1/24/2008

घर में चूहे, देना होगा टैक्स

घर में चूहे, देना होगा टैक्स

दिल्लीवासियों सावधान! यदि आपके घर में चूहे या छिपकली हो तो आपको टैक्स देना पर सकता है। भले ही यह आपको एक मजाक लगे, लेकिन दिल्ली सरकार इस मामले पर विचार कर रही है। दिल्ली सरकार कई चरण में इस योजना को लागू करने जा रही है। पहले चरण में सरकार ने दिल्ली में भैस, गाय, घोडा पालने वालों पर टैक्स लगाया है।
सरकार की योजना के मुताबिक, भैस पालने वालों को अब ढाई हजार रूपये, गाय पालने वालों को दो हजार रुपये, घोडा, खच्चर, गधा से चार पहिया वाहन चलाने वालों को दो हजार और दो पहिया चलाने वालों को एक हजार टैक्स ठोंक दिया है।इसे जल्द ही विधानसभा में पेश किया जाना है।
सूत्रों कि माने तो जल्द ही सरकार घरों में चूहों, बिल्ली, छिपकली, मक्खी, मछ्द पालने वालों पर टैक्स लगायेगी। बताया जाता है कि इस बार यदि लोगों का विरोध नही हुआ तो घर के किचन में काकरोच पाए जाने पर भी टैक्स लगाय्गी।
यहाँ बात कर लगाने के नहीं है, बल्कि गरीबों को दिल्ली से दूर करने की है। पहले झुग्गी झोपडी हटाई गयी। सड़क पर पैदल चलने वालों ko प्रतिबंधित किया गया। चान्दिनी चौक इलाका men रिक्शा चलने पर रोक लगाई गयी। दक्षिणी दिल्ली में रिक्शा चलाने पर पहले से प्रतिबंध है।
आमजन कि समस्या से दूर, सरकार हर महीने ऐसे कानून बनाती है, जिससे गरीब और गरीब रहे और अमीर के दिल्ली ही दिल्ली के दिल में बसे।
कानून जमकर बनाओ शीलाजी, लेकिन जरा घर में रहने वाले चूहों, छिपकली, मकरी और हाँ गली में रहने वाले कुत्ता जैसे जानवर से भी निजात दिलाओ। सरकार को चाहिऐ कि पूरी दिल्ली के हर घर की तलाशी ले, और जिस घर में चूहे मिलें उसे दस हजार रूपये का जुर्माना, छिपकली मिले तो पन्द्रह हजार रूपये ....
हाँ, शीलाजी घबराए नही, मेनका गांधी कुछ नही बोलेंगी, क्योंकि यहाँ उन्हें वोट नही मिलेगा।

1 comment:

गिरीन्द्र नाथ झा said...

bahut aacha vineet bhai..maza aa gya..